About Me

My photo
delhi, India
I m a prsn who is positive abt evry aspect of life. There are many thngs I like 2 do, 2 see N 2 experience. I like 2 read,2 write;2 think,2 dream;2 talk, 2 listen. I like to see d sunrise in the mrng, I like 2 see d moonlight at ngt; I like 2 feel the music flowing on my face. I like 2 look at d clouds in the sky with a blank mind, I like 2 do thought exprimnt when I cannot sleep in the middle of the ngt. I like flowers in spring, rain in summer, leaves in autumn, freezy breez in winter. I like 2 be alone. that’s me

Tuesday, September 4, 2012

यही है सुकून

clicked by Mahi S, Jaipur flat
पता है सब उलझा हुआ है, कुछ ठीक भी नहीं होगा शायद अब लेकिन मै शायद बाद के लिए कोई अफ़सोस नहीं छोड़ना चाहती...समझती मै भी सब हूँ लेकिन फिर भी बस इतना जानती हूँ की एक ही ज़िन्दगी है, जो करना है बस कर गुज़ारना है। तभी तो सब इतना ख़राब चलने के बाद भी पहुँच गयी तुम्हारे पास पता था अच्छा कुछ भी नहीं होगा लेकिन दिल को सुकून रहेगा साथ तो थी...तुम्हारा जन्मदिन जो था कैसे नहीं होती साथ...
बुरा गुज़रा दिन....अब तक का सबसे बुरा शायद...कुछ यही सोचकर दिन गुज़र गया था....मै माफ़ी मांगने के लिए जैसे ही कमरे में गयी देखा तुम्हे सुकून से सोते हुए...कमरे में अँधेरा था...मैंने बालकोनी का दरवाज़ा खोला, आसमान बादलों से घिर आया था...बारिश मानो बादलों के कैद से छूटकर बेपरवाह होकर बरसने को बेताब थी ...बहुत खूबसूरत दिख रहा था आसमान आज...मेरा था वो...मेरा आसमान...मैंने फिर कमरे में देखा, तुमने करवट ली...बहुत आराम से...शायद यही एहसास जिसे मै जी रही थी उसे सुकून कहते हैं...तमाम मुश्किलों के बाद भी मैंने जीया उस सुकून को...तुम्हे देखेने का सुकून, तुम्हारे पास होने का सुकून!!!

14 comments:

  1. सच माही....जो भी है....बस यही एक पल है....
    कम शब्दों में पूरी कायनात.......

    ReplyDelete
  2. sukoon saaf khalak raha hai...lovely post :)

    ReplyDelete
  3. ये कलम का कमाल है या भावनाएं जो शब्दों के माध्यम से उठ रही हैं ...
    रो में बह जाने का मन करता है पढते हुवे ...
    लाजवाब ...

    ReplyDelete
  4. I was very encouraged to find this site. I wanted to thank you for this special read. I definitely savored every little bit of it and I have bookmarked you to check out new stuff you post.

    ReplyDelete
  5. Thnk u so much...Welcum here :) :)

    ReplyDelete
  6. सुकून उनका हो तो अपना तो फिर पुरसुकून है |

    ReplyDelete
  7. वाह अति सुन्दर हर एक पंक्तियों से सच्चाई झलकती है. वाह

    ReplyDelete
  8. देखने का सुकून....पास होने का सुकून....
    अब मिलेगा पा लेने का सुकून......
    शिद्दत से चाही गयी "चीज़" न मिले ये मुमकिन नहीं....
    कितना भी उलझा हो..कितना भी खराब हो....
    :-)
    ढेर सा प्यार तुम्हे (to push u out of blues...)
    anu

    ReplyDelete
  9. हर पंक्ति से सच्चाई झलकती है

    ReplyDelete
  10. सुकून मिला पढ़ के...|

    ReplyDelete
  11. सहेज लिया गया सुकून जीवन भर सुकून देगा!

    ReplyDelete